सचिन ने मुझे पर्सनली थैंक्यू बोला है!

Twitter पर सचिन ने यही निजी संदेश भेजा
सचिन तेंदुलकर बड़े महान खिलाड़ी हैं। भारत रत्न जिन पैमानों पर नेताओं को मिलता रहा है। उस लिहाज से सचिन ने कम भारत के रत्न होने का काम नहीं किया है। अच्छा है उनको भी मिल गया। लेकिन,जरा ध्यान से सोचा जाए तो ये किस सचिन को भारत रत्न मिला है। वो जो मुंबई की ओर से खेलते खेलते देश का और दुनिया का महान क्रिकेटर बन गया। सरल स्वभाव का है। विवादों में नहीं पड़ता। परिवार, दोस्तों का प्रिय है। देश जिसे सिर आंखों पर बिठाए रखता है। सच्चाई ये नहीं है। सच्चाई ये है कि ये घोर टेलीविजन की चमक वाले युग में सबसे बड़े विज्ञापन ब्रांड बने और अभी भी बाजार के सबसे ज्यादा कमाऊ ब्रांड सचिन तेंदुलकर को भारत रत्न मिला है। सचिन के भारत रत्न मिलने पर मुझे कोई एतराज नहीं है। लेकिन, ये कमाऊ ब्रांड तेंदुलकर को भारत रत्न मिला है ये मैं क्यों कह रहा हूं समझाता हूं। कल अचानक मेरे मोबाइल पर ट्विटर अकाउंट खोलते ही ऊपर एक संदेश आया जिसमें लिखा था @BCCI #ThankYouSachin के साथ संदेश भेजने पर सचिन की तरफ से निजी संदेश वाली तस्वीर भेजने की बात थी। मैंने ये देखने के लिए कि ये क्या है। 

@BCCI #ThankYouSachin आप भारत रत्न हैं राजनीति से बचिएगा श्रेष्ठता बनी रहे। ये संदेश भेज दिया। तुरंत मेरे लिए सचिन रमेश तेंदुलकर का निजी थैंक्यू आ गया। अंग्रेजी में लिखा है Thank you for your wishes। मेरा नाम मशीन का सॉफ्टवेयर नहीं लिख पाया होगा इसलिए मेरे नाम की जगह सचिन के इस निजी संदेश में कई प्रश्नवाचक चिन्ह हैं। ये प्रश्नवाचक चिन्ह इसीलिए भारत रत्न पर भी लग रहे हैं। और मैंने कोई बधाई संदेश नहीं भेजा था मैंने तो सचिन को सलाह दी थी कि आप भारत रत्न हैं राजनीति से बचिएगा श्रेष्ठता बनी रहे। सचिन को उस सलाह को गंभीरता से लेना चाहिए था जवाब उसका आना चाहिए था कि वो राजनीति में आएंगे या उससे बचेंगे। लेकिन, चूंकि ये कमाऊ ब्रांड सचिन तेंदुलकर को भेजा संदेश था इसलिए जवाब भी उसी ने दिया। इसीलिए भारत रत्न बंद कर दिया जाए ये सवाल उठना स्वाभाविक है।