Thursday, October 08, 2015

Oxytocin पर प्रतिबंध में क्या मुश्किल?

ABVP की छात्रा संसद में मेनका गांधी
देश के सबसे बड़े छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद @ABVPVoice की छात्रा संसद में महिला, बाल विकास मंत्री मेनका गांधी से अजब बात पता चली। उन्होंने एक छात्रा के बच्चियों को इंजेक्शन देकर बड़ा करने और Women trafficking के सवाल पर ये बात बताई। Oxytocin नाम का इंजेक्शन है, जिसकी वजह से ढेर सारी बुराइयां हैं। गाय को लगाकर उससे ज्यादा दूध निकालने की कोशश होती है। दूध जहरीला हो जाता है। सब्जियों में लगाकर उसे जल्दी तैयार करते हैं। ज्यादा सब्जी हो जाती है। जहरीली सब्जी खाना होता है। जो, मांस खाते हैं। उन्हें जहरीला मांस खाना होता है। अब Oxytocin का बेहद अमानवीय इस्तेमाल आगे बढ़ा है। अब बच्चियों को ये इंजेक्शन लगाकर उऩ्हें बड़ा किया जा रहा है। अरब देशों में ये बच्चियां बेची जा रही हैं। मुंबई से सटे ठाणे में एक कंपनी है जो इसे आयात करके लाती है। दूसरे कुछ नामों से भी अब ये बिकने लगी है। लेकिन, ये प्रतिबंधित नहीं है। स्वास्थ्य मंत्री @JPNadda से भी उन्होंने इसे प्रतिबंधित करने की मांग की है। इसका आंदोलन होना चाहिए। लेकिन, इसकी चर्चा कहां हो रही है।

No comments:

Post a Comment

भारत के नेतृत्व में ही पर्यावरण की चुनौती का समाधान खोजा जा सकता है

हर्ष   वर्धन   त्रिपाठी  @MediaHarshVT पर्यावरण की चुनौती से निपटने के लिए भारत को नेतृत्व देना होगा विकसित होने की क़ीमत सम्...