Posts

योगी राज में बीमारू से औद्योगिक राज्यों के मुक़ाबले खड़ा हो गया उत्तर प्रदेश

  हर्ष वर्धन त्रिपाठी   हम देश को प्रधानमंत्री देते हैं , से हम देश का प्रधानमंत्री बनाते हैं , की गर्वानुभूति उत्तर प्रदेश के लोगों को ऐसी रही कि उन्हें यह अहसास ही नहीं हुआ कि कब देश में उनकी गिनती बीमारू राज्यों में होने लगी। इसकी शुरुआत कांग्रेस के शासनकाल में ही हो गई थी , लेकिन जब क्षेत्रीय पार्टियों का राजनीतिक प्रभाव बढ़ा और उत्तर प्रदेश में जातिवाद चरण पर पहुँचा तो इस बात अनुमान ही नहीं रहा कि जातिवाद और क्षेत्रीय पार्टियों की राजनीति में गुंडागर्दी , अपराध कब उत्तर प्रदेश की पहचान के साथ जुड़ गए। हालात यहाँ तक पहुँच गए कि चुनावी राजनीति में सफलता के लिए अपराधियों की साथ ज़रूरी सा हो गया। उत्तर प्रदेश के लगभग हर ज़िले में कोई न कोई ऐसा एक बड़ा अपराधी था , जिसकी स्वीकृति के बिना सामान्य जन जीवन भी मुश्किल हो गया , कारोबार लगाना तो उसके आगे की बात होती है। उत्तर प्रदेश की पहचान धूमिल पड़ती जा रही थी। उत्तर प्रदेश से हर कोई दि
Recent posts